Aaj Ka Din Kaisa Rahega by Nishu Gupta

यह प्रश्न अधिकतर हम सभी के दिमाग मे आता है जब कभी भी हम कोई जरुरी कार्य करने के लिए सोचते हैं।कई बार हमारे पास इतना समय नहीं होता या हमारे पास जन्म पत्रिका के बारे में कुछ नहीं पता होता कि हम अपने बारे में या फिर किसी और के बारे में कोई निर्णय ले सकें। हमारे ऋषियों ने हमारे सभी सवालों के जवाब अपने पास पहले से ही एकत्रित किए हुए हैं बस जरूरी है उस छिपे खजाने को ढूंढने की। आज हम उस खजाने में छिपे मोती रुपी एक चक्र के बारे मे जानेंगे। इस चक्र को बनाने के लिए हम अभिजीत सहित 27 नक्षत्रों का प्रयोग करेंगे। चंद्रमा मन का कारक है और सबसे तेज गति भी चंद्रमा की ही होती है इसलिए नाम नक्षत्र का प्रयोग करेंगे। जिस दिन को मालूम करना हो- ( -आज का दिन कैसा गुजरेगा? -आज मेरा ये काम होगा या नहीं? या कोईभी प्रश्न जिसका उत्तर जानना हो)उस दिन का चंद्र नक्षत्र देखें(चंद्रमा किस नक्षत्र में है)उस नक्षत्र को नंबर एक से गिनकर बनाए गए चक्र के क्रम के अनुसार 28 नक्षत्र लगा ले। फिर देखें कि आपका नाम नक्षत्र चक्र मे कहा पडता है। उसी अनुसार आपके प्रश्न का उत्तर जाने। *यदि आपके नाम का नक्षत्र वृत्त के अंदर आता है तो उत्तर शुभ फल देने वाला *यदि नाम नक्षत्र वृत्त के बाहर आता है तो मध्यम फल, और यदि *नाम नक्षत्र त्रिशूल पर आता है तो उत्तर अशुभ फल देने वाला माना जाता है। उदाहरण के लिए- *चंद्रमा अश्विनी नक्षत्र में गोचर में हो और आपका नाम नक्षत्र रोहिणी मे हो तो आपके प्रश्न का उत्तर सकारात्मक होगा। *चंद्रमा पू.फा. मे गोचर मे होऔर नाम नक्षत्र अनुराधा हो तो उत्तर का फल मिला- जुला रहेगा यानि नुकसान नहीं होगा तो फायदा भी नहीं होगा। *चंद्रमा अश्विन नक्षत्र में गोचर में हो और नाम नक्षत्र भी अश्विन मे हो तो यहां उत्तर नकारात्मकता को दर्शाता है। (अगर जन्म पत्रिका का चंद्र नक्षत्र नहीं पता है तो अपने बुलाए जाने वाले नाम के नक्षत्र का उपयोग कर सकते हैं।आप अपना नाम नक्षत्र आसानी से किसी भी पंचाग द्वारा जान सकते हैं।परिणाम एकदम सटीक मिलेंगे)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *